पेट्रोल-डीजल मूल्यवृद्धि के खिलाफ फूटा गुस्सा,एआईएसएफ के छात्रों ने पेट्रोलियम मंत्री का पुतला फूंका।




सेन्ट्रल डेस्क

सिवान{SIWAN} पेट्रोल–डीजल के बेतहाशा मूल्यवृद्धि के खिलाफ आज ऑल इण्डिया स्टूडेंट्स फेडरेशन (AISF) के छात्रों ने सिवान के जेपी चौक पर पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान का पुतला फूंका। एआईएसएफ के राज्यव्यापी आह्वान पर आक्रोशित छात्रों ने इस दौरान केन्द्र सरकार विरोधी जमकर नारे लगाए।पेट्रोल-डीजल की बार-बार मूल्यवृद्धि क्यों', जबाव दो! पेट्रोलियम पदार्थों की मूल्यवृद्धि वापस लो,मोदी सरकार होश में आओ, पेट्रोलियम मंत्री डूब मरो आदि नारे लगाए।पुतला दहन के पश्चात एआईएसएफ के राष्ट्रीय सचिव सुशील कुमार ने कहा कि कोरोना संकट की वजह से देश गंभीर आर्थिक संकट से गुजर रहा है। आम जन की जेबें जब खाली है।उस वक्त में पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ाना जले पर नमक छिड़कने के समान है। लेकिन यह सरकार आम जन की नहीं होकर चंद खास लोगों के लिए काम कर रही है। पेट्रोलियम पदार्थों पर केंद्र व राज्य सरकार का टैक्स भारत में अलग-अलग व सबसे अधिक है।इसी कारण भारतीय उपमहाद्वीप के कई देश भारत से पेट्रोल खरीद कर सस्ता बेचते हैं। जिला संयोजक शशि कुमार ने कहा कि भाजपा के लोग उस वक्त में पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने पर तमाम तरह की नौटंकी करते थे जब इनकी सरकार नहीं थी और अब सरकार में आने के बाद मूल्यवृद्धि का काम कर रहे हैं। इतिहास में पहली बार पेट्रोल और डीजल का दाम बराबर होकर डीजल का दाम पेट्रोल से भी बढ़ गया। पेट्रोल-डीजल की मूल्यवृद्धि से रोजमर्रा की जिंदगी के हर चीज का भाव बढ़ना स्वाभाविक है।मौके पर एआईएसएफ के जिला सह संयोजक नीरज यादव, बदरे आलम, चंदन कुमार गिरी, राजकमल,अरविंद कुमार, महेन्द्र कुमार,शांतनु कुमार,जमीर अख्तर, सोनू कुमार,धर्मेन्द्र कुमार सहित दर्जनों छात्र-छात्राएँ मौके पर मौजूद थे।

Post a Comment

0 Comments