LOCKDOWN: बच्चे को ट्रॉली बैग पर लिटाकर घर की ओर पैदल निकली एक मां, रुला देगी ये कहानी

सेन्ट्रल डेस्क: कोरोना वायरस महामारी ने गरीबों की कमर तोड़ दी है. न तो कोरोना खत्म होता नजर आ रहा है न ही लॉकडाउन. ऐसे में शहरों में बेसहारा गरीब निकल पड़ा है अपने गांव की तरफ. घर जाने के लिए न तो कोई साधन है और न ही जेब में पैसे. जैसे-तैसे नंगे पांव चले जा रहे हैं अपने-अपने गांवों की तरफ. 

रोजाना देशभर से सैकड़ों ऐसी कहानियां और तस्वीरें आ रही हैं जो परेशान करने वाली हैं. लेकिन इस बीच एक ऐसी कहानी सामने आई है जो आपको भी रुला देगी. एक जत्था पैदल चलकर जा रहा है. जत्थे में एक बच्चा है, उसकी मां है, मां के हाथ में ट्रॉली बैग है, बच्चे की आंखों में नींद है. मीडिया रिपोर्टों की मानें तो ये लोग पंजाब से उत्‍तर प्रदेश के महोबा के लिए पैदल निकले थे.


ये बच्चा अपनी मां के साथ पैदल ही निकल पड़ा है. बच्चा इतना बड़ा है कि मां उसे उठाकर नहीं चल सकती. लेकिन बच्चा चलते-चलते थक गया और उसे नींद आने लगी. मां अपने बच्चे की नींद पूरी कराने के लिए एक जगह रुक नहीं सकती क्योंकि उसके साथ के लोग आगे निकल जाएंगे और वह अकेली रह जाएगी. 

ऐसे में उसने अपने बैग पर ही बच्चे को सुला दिया है और बैग को रस्सी के सहारे खींचती हुई चली जा रही है. मानो बैग कोई ट्रेन की बोगी हो और मां इंजन. सोशल मीडिया पर ये वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है.

Post a comment

0 Comments