यूपी में भी बढ़े शराब के दाम, पेट्रोल और डीजल की कीमत में भी हुआ इजाफा

नई दिल्ली: कोरोना वायरस महामारी के बीच उत्तर प्रदेश सरकार ने कैबिनेट की बैठक में कई बड़े फैसले लिए. योगी सरकार ने आज कोरोना वारियर्स को लेकर अध्यादेश पास कर दिया है. वहीं पेट्रोल, डीजल पर भी वैट बढ़ा दिया गया. इसके अलावा शराब के दामों में भी इजाफा कर दिया.


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में फैसले लिये गये. इस निर्णय की जानकारी देते प्रदेश के वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने बताया कि शराब के दामों में यह वृद्धि तत्काल प्रभाव से लागू होगी. उन्होंने बताया कि इससे सरकार को इस साल करीब 2350 करोड़ रुपये का राजस्व मिलने का अनुमान है.

खन्ना ने बताया कि मंत्रिमण्डल ने देशी शराब पर मात्र पांच रुपये की वृद्धि के प्रस्ताव को मंजूरी दी है, अब 65 रुपये की बोतल 70 रुपये में जबकि 75 वाली 80 रुपये में मिलेगी.

उन्होंने बताया कि विदेशी मदिरा की इकॉनमी और मीडियम क्लास में 180 मिलीलीटर (एमएल) तक 10 रुपये, 180 से 500 एमएल तक 20 रुपये और 500 एमएल से अधिक की बोतल पर 30 रुपये बढ़ाए गए हैं. उन्होंने बताया कि इसके अलावा रेगुलर और प्रीमियम श्रेणी में 180 एमएल तक 20 रुपये, 180 से 500 तक 30 रुपये और 500 एमएल से अधिक पर 50 रुपये की वृद्धि की गई है.

खन्ना ने बताया कि विदेश से आयातित शराब की 180 एमएल तक की बोतल पर 100 रुपये, 500 एमएल तक 200 और 500 एमएल से अधिक की बोतल पर 400 रुपये बढ़ाए गए हैं. उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के बाद से ही प्रदेश में शराब की बिक्री बंद हो गयी थी, लोगों को जब शराब नहीं मिली तो उन्होंने अवैध रूप से बनी शराब पीना शुरू किया और गांव- गांव में अवैध रूप से शराब बनने लगी.


अवैध शराब से हो रही थी मौतें


उन्होंने बताया कि गाजियाबाद के मोदीनगर में तीन लोगों ने शराब नहीं मिलने पर सैनिटाइजर पी लिया जिससे उनकी मौत हो गई, कानपुर में भी अवैध शराब पीने से तीन लोगों की मौत हो गई. खन्ना ने बताया कि चार मई तक अवैध रूप से बनायी गयी 80,020 लीटर शराब जब्त कर कुल 3,627 लोगों को गिरफ्तार किया था.


प्रदेश के वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने पेट्रोल के दामों पर कहा कि मंत्रिमण्डल ने पेट्रोल के दाम में दो रुपये और डीजल के दाम में एक रुपये प्रति लीटर की वृद्धि करने का फैसला किया है. उन्होंने बताया कि इससे सरकार को 2070 करोड़ रुपये का अतिरिक्त राजस्व हासिल होने की संभावना है.


पेट्रोल, डीजल के दामों में भी बढ़ोतरी


उन्होंने बताया कि वर्तमान में डीजल और पेट्रोल का जो कर अनुपात था, उसके मुताबिक पेट्रोल पर 26.80 प्रतिशत या 16.74 रुपये प्रति लीटर था और डीजल पर 17.49 प्रतिशत या 9.41 रुपये प्रति लीटर था. अब पेट्रोल पर 16.74 रुपये के स्थान पर 18.74 पैसे प्रति लीटर वैट लिया जाएगा. वहीं, डीजल पर 9.41 के स्थान पर 10.41 रुपये वैट वसूला जाएगा.


ये हैं नई कीमत


खन्ना ने बताया कि वर्तमान में पेट्रोल का दाम 71.91 रुपये प्रति लीटर था जो अब 73.91 रुपये प्रति लीटर हो जाएगा. वहीं, डीजल का मूल्य 62.86 रुपये से बढ़कर 63.86 रुपये प्रति लीटर होगा. उन्होंने बताया कि बढ़ी हुई कीमत आज (बुधवार) रात 12 बजे से प्रभावी होंगी.


उन्होंने कहा कि 22 मार्च से जारी लॉकडाउन के कारण हमारे आर्थिक संसाधन काफी कम हुए हैं. उन्होंने बताया, "अप्रैल में 12,141 करोड़ रुपए कर की डिमांड थी, जिसके सापेक्ष हमारा संग्रहण 1,178 करोड़ रुपए हुआ. यह अपने आप में बहुत कम है. हमारी आर्थिक स्थिति इस महीने काफी कमजोर रही और वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए अतिरिक्त संसाधन जुटाना जरूरी है."


खन्ना ने कहा कि दिल्ली सरकार ने डीजल पर सात रुपये प्रति लीटर की वृद्धि की थी, लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार ने कृषि कार्यों, परिवहन तथा उद्योगों में इसके भारी इस्तेमाल को देखते हुए मात्र एक रुपये प्रति लीटर की ही वृद्धि की है.


Input- abp news

Post a Comment

0 Comments