समस्तीपुर के रोसड़ा में ड्यूटी के दौरान बीमार पड़े कोरोना वारियर्स चौकीदार देवू पासवान की मौत इलाज के दौरान हो गई।

अमरदीप नारायण प्रसाद।

मृतक के परिजन ने बताया की कोरोना वायरस को लेकर  रोसड़ा उच्च विद्यालय में बने क्वारटाईन  सेंटर में ड्यूटी कर रहे थे । वहीं पर इनकी तबियत बिगड़ गयी । जब ड्यूटी से लौटकर घर आए तो हम लोग सदर अस्पताल समस्तीपुर इलाज के लिए ले गए। सदर असताल में डॉक्टरों ने बताया की इनको डायबिटीज है इनको अच्छा डॉक्टर से इलाज कराइए। तो हम लोग समस्तीपुर में निजी क्लिनिक में अच्छे डॉक्टर से इलाज कराया।


लेकिन यहां भी इनके स्वास्थ्य में सुधार नही आया।उक्त डॉक्टर वहां से पटना आईजीएमएस रेफर कर दिया। लेकिन लॉकडाउन की वजह से वहां भर्ती नहीं लिया गया। उसके बाद  लौटकर समस्तीपुर में ही इलाज कराए । समस्तीपुर के इलाज से स्वास्थ्य में सुधार नहीं होता देख फिर बेगूसराय ईलाज के लिए ले गए । बेगूसराय इलाज के कराने के बाद घर लौट आए फिर 4 दिन के बाद बेगूसराय ले गए। बेगूसराय में डायलोसिस के क्रम में उन्होंने दम तोड़ दिए।
वहीं भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के नेता सुरेंद्र कुमार सिंह उर्फ मुन्ना ने बताया है कि लॉकडाउन के कारण इनको उचित इलाज नहीं हो पाया। इनको इलाज के लिए पटना भी लाया गया । दरभंगा भी लाया गया। और  आईजीएमएस में भी भर्ती नहीं लिया । पीएमसीएच में भी भर्ती नहीं लिया जिसकी वजह से इनकी मृत्यु हुई है। 
मृतक चौकीदार रोसड़ा थाना क्षेत्र के खैरा गांव के रहने वाला था। मृतक चौकीदार के घर में कोहराम मचा हुआ है । और इनकी मृत्यु से रोसड़ा थाना में शोक व्याप्त है

Post a Comment

0 Comments