प्रेमिका की खातिर पूरे परिवार को खत्म करनेवाला अपना ही बेटा निकला मास्टर माइंड...पढ़ें सनसनीखेज मर्डर स्टोरी

प्रयागराज। प्रयागराज में धूमनगंज थाना इलाके के प्रीतम नगर विवेकानंद चौराहे के पास बिजली के सामानों का व्यापार करने वाले तुलसीदास केसरवानी और उनकी पत्नी किरण केसरवानी , बहन निहारिका और पत्नी प्रियंका केसरवानी की दिन दहाड़े उन्हीं के घर पर चाकुओं से गला काट कर हत्या किये जाने के मामले का पुलिस ने खुलासा कर लिया है। एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या के पीछे खुद उनका बेटा आतिश केसरवानी इस मर्डर मिस्ट्री का मास्टर माइंड निकला। पुलिस ने छानबीन के बाद हत्या में शामिल दो लोगों को गिरफ्तार कर आला क़त्ल भी बरामद कर लिया है।


इस तरह रची गयी हत्याकांड की साजिश


धूमनगंज थाना इलाके में दिल को दहला देने वाले इस हत्याकांड में प्रेम प्रसंग का मामला सामने आया है। पुलिस ने चार लोगों की हत्या के बाद मौके पर गहन छानबीन की तो परत दर परत खुलती चली गई। देर रात पुलिस लाइन में एडीजी प्रेम प्रकाश ने मीडिया के सामने जो खुलासा किया उससे ख़ून का रिश्ता तार तार हो गया। पुलिस के मुताबिक मृतक के बेटे आतिश ने चार साल पहले अपनी मर्जी से किरण केसरवानी से लव मैरिज की थी। शादी के बाद भी आतिश केसरवानी का एक दूसरी लड़की से इश्क परवान चढ़ने लगा था, इसकी भनक जब मां-बाप बहन और पत्नी को लगी तो सभी लोगों से उसका घर में आये दिन विवाद होने लगा। यही नहीं आतिश की बहन निहारिका ने कुछ दिनों पहले आतिश और उसकी प्रेमिका की तस्वीर फेसबुक पर वायरल कर दिया था, जिसके बाद आतिश ने अपने तीन दोस्तों अनुज श्रीवास्तव उसके मामा कृष्ण श्रीवास्तव और एक अन्य दोस्त को आठ लाख रुपये की सुपारी दे कर पूरे परिवार की हत्या करने की साजिश रची।



आतिश ने इस काम के लिए अनुज को 75 हजार रुपया बतौर एडवांस भी दिया था। जिसके बाद बृहस्पतिवार की दोपहर को मौका मिलते ही आतिश ने बड़ी ही चतुराई से अपने घर के अंदर तीनों लोगों को छोड़ कर खुद बाहर चला गया था। फिर क्या था भाड़े के इन हत्यारों ने बड़े ही बेरहमी से बाजार से खरीद कर लाये धारदार चाकू से पहले माता पिता और फिर बहन निहारिका का गाला काट कर मौत के घाट उतारा। उसके बाद मकान के ऊपरी कमरे में सो रही पत्नी प्रियंका का गाला काट कर हत्या कर दिया और फिर मौके से फरार हो गए।


पुलिस के मुताबिक आतिश अपनी प्रेमिका के साथ साथ सारी प्रॉपटी को पाने के लिए परिवार के सभी लोगों की हत्या करने का मास्टर माइंड निकला। पुलिस के अनुसार इस जघन्य अपराध में शामिल दो लोगों की गिरफ़्तारी के लिए टीम बना कर लगा दिया गया है और जल्द ही फरार दोनों आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया जायेगा।


पुलिस विभाग भी हैरान


हालांकि एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या से इलाके में ही नहीं बल्कि पुलिस विभाग में भी खलबली मच गई थी। पुलिस के आला अफसरों ने इस मर्डर मिस्ट्री की तफ्तीश शुरू किया और कुछ ही घंटो के बाद पुलिस ने बेटे आतिश से कड़ाई से पूछताछ की तो पुलिस की सख्ती के आगे आतिश टूट गया और अपना जुर्म काबुल करते हुए पूरा मामला परत दर परत खुद ही खोलने लगा। पुलिस ने घर के अंदर से ही हत्या में इस्तेमाल ख़ून से सने चाकू को बरामद कर आतिश और अनुज को गिरफ्तार कर लिया और अब इस हत्या कांड में शामिल फरार राज कृष्ण केसरवानी और एक अन्य आरोपी की गिरफ़्तारी के लिए उनके ठिकानों पर दबिश दे रही है।


बहरहाल प्रेम प्रसंग और जायदाद के खातिर एक बेटा खुद अपने माता पिता बहन और पत्नी का कातिल होगा शायद ये बात मृतक पिता तुलसीदास और नौ महीने तक होनी कोख में रखने वाली मां किरण केसरवानी ने सपनो में भी नहीं सोचा होगा।

Post a comment

0 Comments