बिहार का लाल संतोष भी जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा आतंकी हमले में शहीद, आज पहुंचेगा पार्थिव शरीर


शहीद जावन, (फ़ाइल फ़ोटो)
औरंगाबाद: जम्मू कश्मीर के हंदवाड़ा में आतंकियों से हुए मुठभेड़ के दौरान आतंकियो से लोहा लेते हुए देश के तीन जवान शहीद हो गए। शहीद हुए तीनों जवान बिहार, उत्तर प्रदेश और तमिलनाडु के रहने वाले थे। तीनो जवानो में एक जवान बिहार के औरंगाबाद के रहने वाले सीआरपीएफ कांस्टेबल संतोष कुमार मिश्रा थे, जिन्होंने देश के लिए अपना बलिदान दिया है। उनकी शहादत पर आज पूरा बिहार गर्व कर रहा है।

शहीद जवान का पार्थिव शरीर मंगलवार की शाम करीब 5:00 बजे सेना के  हेलीकॉप्टर से गया एयरपोर्ट पर पहुंचेगा। जहां जिला प्रशासन और सीआरपीएफ के वरीय अधिकारी जवान को सलामी देंगे। यहां से शहीद संतोष कुमार मिश्रा का पार्थिव शरीर विशेष वाहन से औरंगाबाद जिले के गोह थाना अंतर्गत दाउदनगर के देव्हारा उनके पैतृक गांव जाएगा। जहां राजकीय समारोह के साथ उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। 

नीतीश कुमार , सीएम बिहार, (फ़ाइल फ़ोटो)

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शहीद संतोष के प्रति गहरा शोक जताया है और कहा है कि शहीद की शहादत को हमारा देश हमेशा याद रखेगा। गर्व है कि बिहार के एक सपूत ने आतंकियों से लोहा लेते हुए अपनी जान गंवा दी। उनकी शहादत को बिहार हमेशा याद रखेगा।

शहीद संतोष औरंगाबाद के गोह थाना इलाके के देवहरा गांव के रहने वाले है। संतोष के शहीद होने की खबर मिलते ही गांव में मातमी सन्नाटा छा गया है। शहीद जवान संतोष के घरवालों का रो-रोकर बुरा हाल  है।

शहीद संतोष मिश्रा के बड़े भाई विकास मिश्रा ने  कहा कि मुझे अपने भाई के बलिदान पर गर्व है। शहीद संतोष की पत्नी और उनका एक ढाई वर्ष का पुत्र इन दिनों गांव पर ही है।

शहीद संतोष मिश्रा के भाई विकास मिश्रा ने कहा कि आज संतोष मिश्रा का फोन आया था और घर के लोगों ने बात भी की थी , फोन से बात करने के कुछ घंटों के अंदर ही शहादत की खबर दी गई । विकास मिश्रा ने बताया कि मुख्यालय से खबर मिलने के बाद गांव में मातम है जबकि गांव का हर व्यक्त संतोष की इस शहादत पर गर्व कर रहा है ।

Post a Comment

0 Comments