मुंबई के कांदिवली में गिरी घर की दीवार, 4-5 लोगों के फंसे होने की आशंका


MUMBAI
मुंबई के कांदिवली में घर की दीवार गिर गई है. घटना रविवार सुबह 6 बजे के आसपास की बताई जा रही है. लगभगर सुबह 6 बजकर 10 मिनट पर  डायसस्टर कंट्रोल रूम को सूचना मिली कि  G + 1 घर की दीवार सबरिया मस्जिद, दलजी पाडा, कांदिवली (पश्चिम) के पीछे ढह गई हैं. रेस्क्यू टीम मौके पर पहुंची और 3 फंसे हुए व्यक्तियों को बचाया. इसी के साथ 4-5 और निवासियों के फंसे होने की आशंका है. जानकारी के मुताबिक ऊपरी मंजिल  पर फंसे सभी 12 व्यक्तियों और मलबे में फंसे 2 व्यक्तियों को विभिन्न बचाव उपकरणों का उपयोग करते हुए फायरमैन द्वारा बचाया गया. किसी भी फंसे हुए व्यक्ति की तलाश जारी है.

यह भी पढ़ें : हैदराबाद से यूपी लौट रहे पांच मजदूरों के साथ MP के नरसिंहपुर में दर्दनाक हादसा, ट्रक पलटने से गई जान 

बता दें, ये घटना ऐसे समय में हुई जब मुंबई में लोग कोरोना के संक्रमण से बेहाल है. इससे पहले  राज्य के सीएम उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने प्रेस वार्ता में कहा था कि कोरोना के मुद्दे पर हमने सभी पक्ष के नेताओं के साथ बैठक की. उन्हें बताया गया कि हम क्या कर रहे हैं, क्या हो रहा है, सबकुछ बताया गया और सभी ने हमें भी बहुत सारी जानकारी दी, जिसे हम अमल पर ला रहे हैं. महाराष्ट्र के सीएम ने कहा कि राजनीति को एक तरफ रखकर हम सब साथ में आए हैं. कोई राजनीति नहीं हुई, सब साथ में है. इससे मेरा विश्वास और बढ़ा. आपसे बात करते समय मैं व्यथित हूं. औरंगाबाद में जो हुआ उससे मन दुखी है. जो हुआ वो बहुत ही दुखी घटना है. मजदूर घर के लिए निकले हैं. मैं आज दोबारा कहता हूं कि बेचैन ना हों, राज्य सरकार आपके साथ हैं. लाखों मजदूरों के खाने-पीने की व्यवस्था शुरू की है. दूसरे राज्यों से बात कर ट्रेनों की शुरुआत की गई है.

यह भी पढ़ें: देश में पिछले 24 घंटों में 128 लोगों की मौत, 63 हजार पहुंची संक्रमित मरीजों की संख्या

उद्धव ठाकरे ने आगे कहा कि हर एक मजदूर को उनके गांव भेजेंगे. ट्रेन के लिए भीड़ न लगाए. मजदूर संयम बनाकर रखें. धीरे-धीरे ट्रेनें शुरू हो रही हैं पर आप अफवाह में ना आएं. हम खाने-पीने से सबकुछ देने की सुविधा कर रहे हैं. हम संयम से कोशिश कर रहे हैं. कई जगहों पर अफवाह फैली है कि मुंबई में सेना आने वाली है,ऐसा कुछ नहीं है.

उन्होंने आगे कहा कि अगर हमें हॉस्पिटल और डॉक्टर की मदद लगे तो उसके लिए भी व्यवस्था की जा रही है. डॉक्टर, सफाईकर्मी, पुलिस सभी तनाव में काम कर रहे हैं. पुलिस को थोड़ा आराम देने की कोशिश है. वे लगातार काम कर रहे हैं, बीमार पड़ रहे हैं उनके आराम के लिए केंद्र सरकार से कुछ पुलिस को यहां बुलाने की कोशिश कर रहे हैं. इसका मतलब हम सेना नहीं बुलाया रहे पर पुलिस को आराम देने के लिए यह कर रहे हैं. इस मुद्दे पर अफवाह फैलाई जा रही है, उसपर ध्यान ना दें.

Post a Comment

0 Comments